Handwara Encounter: देश ने गंवाए 5 अनमोल रत्न चाहते तो ध्वस्त कर सकते थे आतंकी ठिकाना, पर फंसे लोगो को बचाना सही समझा

Handwara Encounter Latest News In Hindi, Shaheed Colonel Ashutosh ...

योगेश सगोात्रा
जम्मू: भारतीय सेना ने एक बार फिर अदम्य साहस और बहादुरी की इबारत लिखी है। उत्तर कश्मीर के हंदवाड़ा में अपनी जान पर खेल कर आतंकियों की गिरफ्त से कईं लोगों को आजाद कराने के बाद दहशतगर्दों से लोहा लेते हुए सेना के एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। इस मुठभेड़ में दो आतंकी भी मारे गए। यह इलाका उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का हिस्सा है।

दरअसल सुरक्षाबलों को हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में आतंकियों की मौजूदगी के खुफिया इनपुट मिले थे। इसके बाद सेना की 21 राष्ट्रीय रायफल्स और जम्मू-कश्मीर पुलिस की संयुक्त टीम ने तलाशी अभियान चलाया। इसी बीच आतंकियों ने एक घर में छिपकर कुछ लोगों को बंधक बना लिया था। मासूम लोगों की आड में वह सुरक्षाबलों पर गोलियां दाग रहे थे। नागरिकों को आजाद कराने के लिए सेना के कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राजेश और लांस नायक दिनेश घर में घुसे। पांच लोगों की इस टीम में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर शकील काजी भी शामिल थे। इन सभी ने आतंकियों का सामना करते हुए वहां मौजूद आम नागरिकों को सही सलामत बाहर निकाला। इस बचाव अभियान के दौरान बहादुर जवानों को कई गोलियां लग गईं।

लश्कर कमांडर ढेर,देने वाला था अन्य आतंकियों को ट्रेनिंग…

भारतीय सेना की ओर से बताया गया कि नागरिकों को सुरक्षित निकालते हुए हमारे जवान आतंकियों की भारी फायरिंग की चपेट में आ गए। इस दौरान दो आतंकियों को मार गिराया गया। सुरक्षा बलों की टीम में शामिल दो आर्मी अफसर, दो जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक एसआई इस ऑपरेशन में शहीद हो गए। कश्मीर पुलिस के महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि मृत आतंकियों में से एक की पहचान लश्कर कमांडर ‘हैदर’ के रूप में की गई है। बताया गया है कि उस पर सीमा पार से आने वाले आतंकियों को ट्रेनिंग देने की जिम्मेदारी थी। मुठभेड़ शुरू होने के बाद से हंदवाड़ा में इंटरनेट सेवा अस्थायी रूप से बंद है। साथ ही मुठभेड़ स्थल को सील कर वहां जवानों की तैनाती कर दी गई है। किसी को जाने की अनुमति नहीं है।

जम्मू-कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के अहगाम गांव रविवार को विस्फोट हो गया। इसमें आठ लोग घायल हो गए। इनमें बच्चे भी शामिल है। विस्फोट स्थल हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके से तीन किलोमीटर दूर है जहां आतंकियों के साथ भीषण मुठभेड़ हुई थी।

गौरतलब है कि इससे पहले हंदवाड़ा के रजवाड़ा वडरबाला जंगल क्षेत्र में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने 20 घंटे तलाशी अभियान चलाया था। क्योंकि उन्हें सूचना मिली थी कि लश्कर का उत्तरी कश्मीर कमांडर हैदर अपने एक ग्रुप के साथ पाकिस्तान से घुसपैठ कर आने वाले नए ग्रुप को रिसीव करने जा रहा है। यहां थोड़ी देर मुठभेड़ चली। आतंकी इसके बाद जंगल में फरार हो गए। इसके बाद शनिवार को चांजमुल्ला में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद मुठभेड़ शुरू हुई। इसमें भी देर रात मुठभेड़ में सेना के दो अफसरों समेत सुरक्षा बलों के पांच जवान लापता हो गए थे। इनका टीम से संपर्क कट गया था।

loading...

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *