मुंबईः लॉकडाउन खत्म होने की उम्मीद में हज़ारों मजदूर रेलवे स्टेशन पहुंच गए

14 अप्रैल को मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर हज़ारों प्रवासी मजदूर जमा हो गए. उन्हें लग रहा था कि लॉकडाउन खुल जाएगा ,तो वे ट्रेन में बैठकर अपने घर लौट जाएंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. पीएम मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है. इन मजदूरों को स्टेशन के पास से हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया.

बड़ी ख़बर – इस अभिनेत्री से वेश्यावृत्ति करवाता था प्रोड्यूसर, एड्स की वजह से हुई थी दर्दनाक मौत

पुलिस की कार्रवाई के बाद भीड़ अलग-थलग हो गई. में छपी ख़बर मुताबिक़, स्थानीय नेताओं का कहना है कि लोगों को समझाया जा रहा है कि उन्हें यहां कोई दिक्कत नहीं होगी. हर संभव मदद की जाएगी.

शादी के बाद इस क्रिकेटर का रहा है 5-6 लड़कियों के साथ नाजायज संबंध,जिसमे शामिल है ये बॉलीवुड एक्ट्रेस

पुलिस अधिकारी ने इंडिया टुडे से बात करते हुए बताया-

ये लोग दिहाड़ी मजदूर हैं. यहां 3 बजे करीब हज़ार से ज्यादा लोग जमा हो गए थे. ये लोग पटेल नगरी के आस पास के स्लम में रहते हैं. इनकी मांग थी कि इन्हें ट्रांसपोर्ट सुविधा मिले ताकि ये अपने घर लौट सकें. ये लोग मूलतः बंगाल और उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे.

ताज़ा खुलासा –   सुष्मिता सेन का खुलासा, 6 महीने पहले 15 साल के लड़के ने मेरे साथ की थी..

शिवसेना ने केंद्र पर आरोप लगाया

पूरे मामले पर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने केंद्र पर आरोप लगाया है, उन्होंने ट्वीट किया,

वीरेंद्र सहवाग की पत्नी आरती सहवाग ने दर्ज कराई FIR, जानिए क्या है मामला….

बांद्रा स्टेशन से अब मजदूरों को हटा दिया गया. हाल ही में सूरत में कुछ मजदूरों ने दंगा किया था. केंद्र सरकार उन्हें घर पहुंचाने को लेकर फैसला नहीं ले सकी है. प्रवासी मजदूर खाना और शेल्टर नहीं चाहते हैं, वे घर जाना चाहते हैं.

जिस दिन से ट्रेन को बंद किया गया उसी दिन हमने अगले 24 घंटे ट्रेन चलाने की गुजारिश की थी ताकि प्रवासी मजदूर घर पहुंच सकें. सीएम उद्धव ठाकरे ने भी पीएम मोदी से इस मसले को लेकर बात की थी. अभी 6 लाख से ज्यादा लोगों को महाराष्ट्र के कई शेल्टर कैंपों में रखा गया है. 

The current situation at Bandra Station, now dispersed or even the rioting in Surat is a result of the Union Govt not being able to take a call on arranging a way back home for migrant labour. They don’t want food or shelter, they want to go back home

— Aaditya Thackeray (@AUThackeray) April 14, 2020

वीरेंद्र सहवाग की पत्नी आरती सहवाग ने दर्ज कराई FIR, जानिए क्या है मामला….

loading...

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *