दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज़ में 24 लोग कोविड 19 पॉजिटिव, सीएम केजरीवाल ने बुलाई बैठक

नई दिल्ली: दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी मरकज़ में मौजूद 24 लोगों में कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया है. मंगलवार को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने यह जानकारी दी है.

 

वहीं कोरोनावायरस को लेकर और निजामुद्दीन स्थित मरकज़ भवन के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर एक उच्च-स्तरीय बैठक चल रही है. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और अन्य अधिकारी बैठक में मौजूद हैं.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि 24 मार्च को पुलिस स्टेशन के एसएचओ ने हज़रत निज़ामुद्दीन, मरकज़ परिसर को बंद करने की मांग करते हुए एक नोटिस जारी किया था. 24 मार्च को इसका जवाब आया जिसमें कहा गया कि मरकज़ को बंद करने के निर्देशों का पालन चल रहा है और पिछले दिन लगभग 1500 लोग वापस भेज दिए गए हैं.

इसके बाद मरकज़ में विभिन्न राज्यों और देशों के लगभग 1000 विजिटर्स बच गए थे. यह भी बताया गया कि एसडीएम को लोगों को उनके मूल स्थानों पर वापस भेजने के लिए वाहन के पास देने का अनुरोध किया गया था.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अंदाजा लगाया जा रहा है कि वहां 1500, 1600 के आस-पास लोग हैं. 1033 लोगों को निकाला जा चुका है जिनमें से 334 लोगों को अस्पताल और 700 के करीब लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया है. स्क्रीनिंग चल रही है. मरकज़ में ठहरे 24 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं.

सत्येंद्र जैन ने कहा कि जो आयोजक हैं उन्होंने बहुत ही घोर अपराध किया है. पूरे देश और दिल्ली के अंदर आपदा और महामारी रोग एक्ट लागू था. मैंने खुद एलजी को इनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा है. दिल्ली सरकार ने इन लोगों पर एफआईआर दर्ज़ करने का निर्देश दिया है.

असम के भाजपा नेता हिमांता बिस्वा शर्मा ने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज भवन के समारोह में हिस्सा लेने वाले असम के लोगों को नजदीकी अस्पताल जाने को कहा है और हेल्पलाइन नंबर 104 ट्वीट किया है.

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि मणिपुर को कोई भी शख्स जो भी निजामुद्दीन, दिल्ली के मरकज भवन समारोह में गया हो वह तुरंत रिपोर्ट करे. सीएम ने टोल फ्री नंबर भी इसके लिए जारी किया है.

वहीं  मरकज़ भवन, निज़ामुद्दीन में मेडिकल टीम और पुलिस मौजूद है. इस महीने के शुरू में मरकज़ में लगभग 2500 लोग एक समारोह में शामिल हुए थे, 860 लोगों को इमारत से अस्पतालों में शिफ्ट किया गया है, 300 को शिफ्ट करना बाकी है.

दिल्ली के निज़ामुद्दीन में 200 लोगों को कोविड 19 के लिए टेस्ट किया गया था, 7 पॉजिटिव निकले थे

दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के निज़ामुद्दीन क्षेत्र से कम से कम 200 लोगों को कोविड 19 के टेस्ट के लिए सोमवार को ले जाया गया था. दिप्रिंट को इस बात का पता चला कि जब इस क्षेत्र के सात लोग पॉजिटिव पाये गए  थे, कुछ और ने भी कोरोनावायरस के लक्षण होने की शिकायत की थी.

दिल्ली पुलिस ने सारे क्षेत्र की नाकेबंदी कर दी है और एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार लोगों की आवाजाही पर ड्रोन के ज़रिए नज़र रखी जा रही थी.

निजामुद्दीन में धार्मिक सभा में शामिल होने वाले छह लोगों की कोविड-19 के कारण मौत

तेलंगाना में उन छह लोगों की कोरोनावायरस संक्रमण के कारण मौत हो गई जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में 13 मार्च से 15 मार्च के बीच धार्मिक सभा में भाग लिया था.

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार ‘दिल्ली में निजामुद्दीन इलाके के मरकज़ में 13 मार्च से 15 मार्च तक एक धार्मिक सभा में भाग लेने वाले कुछ लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण फैल गया है.’

 

Nizamuddin Corona cases: तब्लीगी मरकज में विदेशों से भी आए थे 200 से अधिक लोग, ये रही लिस्ट

 

दिल्ली। दक्षिण दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में पिछले दिनों आयोजित हुए तब्लीगी जमात में शामिल 24 लोगों के कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, जानकारी मिली है कि तबलीगी मरकज में शामिल होने के लिए मलेशिया, अफगानिस्तान, म्यांमार, थाईलैंड, श्रीलंका समेत दर्जन भर देशों से लोग आए थे। 

वहीं, मरकज में हरियाणा, बिहार और पंजाब समेत 20 राज्यों से 1830 लोग शामिल हुए थे। इनकी सूची भी जारी कर दी गई है। ऐसे में उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के साथ अंडमान के लोगों की भी मुश्किल बढ़ गई है, क्योंकि तब्लीगी में शामिल होने वाले वहां पहुंचकर बीमार हो गए हैं और इनमें कोरोना वायरस की पुष्टि भी हो गई है। 

loading...

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *