Corona virus: what to do and what not to do

चीन में कोरोना वायरस महामारी का रूप ले चुका है। चीन के वुहान में इसकी शुरुआत हुई और अब तक समूचे चीन में कोरोना वायरस से 3 हजार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। आंकड़े बताते हैं कि संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ते हुए लगभग 90 हजार के पास पहुँच गई है।

कोरोना वायरस से दुनिया भर में भय!

इस जानलेवा बीमारी ने चीन के अलावा दुनिया के 68 देशों में फैल चुका है। दक्षिण कोरिया, ईरान, इटली, अमेरिका और फ्रांस सहित कई देशों में कुछ लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी इसने दस्तक दी है। शुरुआत केरल से हुई थी। लेकिन राहत की बात है कि केरल में जिन 3 मरीजों में कोरोना का संक्रामण था वह अब ठीक हो चुके हैं। अब 6 नए मामलों की पुष्टि हुई है। केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के अनुसार भारत में अब तक कुल 28 मामले सामने आए हैं।

भारत में भी अफवाहों का बाज़ार गरम है

भारत में जैसे ही लोगों को पता चला कि नोएडा और आगरा में कोरोना के कुछ मामले सामने आए हैं, लोगों में दहशत फैल गई। हालांकि सरकार ने लोगों से अपील की है कि अफवाह फैलाने से बचें लेकिन एहतियात में कोई कमी ना करें। केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस को लेकर कई बैठकें की हैं और सभी अस्पतालों संबन्धित मंत्रालयों और विभागों से अलर्ट पर रहने को कहा है।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए क्‍या करें:

कोरोना वायरस को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन भी चिंतित है और इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए सक्रिय हो गया है। कोरोना वायरस से अधिक खतरा 6 वर्ष से कम और 60 वर्ष से अधिक वाले लोगों को ज़्यादा है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए कुछ उपाय बताए हैं। आइये जानते हैं, क्‍या करें और क्‍या न करें।

सफाई पर ध्‍यान दें!

सफाई के लिए अपने हाथों को लगातार धोते रहें। हाथ गंदे नहीं होने पर भी धोएं। धोने के बाद हो सके तो टिशू का प्रयोग करें। छींकने और खांसने के दौरान अपने मुंह पर हाथ रखें।

पांच बार हाथ धोएं

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वायरस से निपटने के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने को कहा है। इसके लिए हाथों की सफाई को प्रमुखता दी है और दिन में कम से कम पांच बार हाथ धुलने का सुझाव दिया। डब्ल्यूएचओ ने हाथ को कब और कैसे धुलने का तरीका भी बताया है।

छींकने और खांसने के बाद, बीमार व्यक्ति से मिलने के बाद, शौच के इस्तेमाल के बाद, खाना बनाने और खाने के बाद, पशुओं को छूने के बाद।

मुंह पर मास्‍ पहनें

जब भी आप अपने घर से बाहर निकलें मास्क ज़रूर पहनें। मेट्रो, बसों और ट्रेन का सफर करना हो तो मास्क पहनना ना भूलें। विशेषज्ञों के अनुसार एन 95 मास्‍क इससे सुरक्षा के लिए बेहतर होता है।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए क्‍या ना करें:

छींकने और खांसने वालों से दूरी रखें। अगर कोई व्यक्ति आपके पास में खाँसे या छींके तो कुछ सेकेंड तक सांस न लें। ऐसे लोगों से दूर रहने का प्रयास करें जिनमें वायरल बुखार के भी लक्षण दिखाई दें। यानि खांसी, जुकाम, बुखार, सिर में दर्द जैसी बीमारियाँ जिन्हें हों, उनसे दूर रहें।

हाथ से बारबार चेहरे को ना छूएँ

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधार्थी एलिस्टेयर माइल्स के अनुसार अगर गलती से आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गए हैं या हांथ पर वायरस लग गया है तो बार-बार चेहरे को छूने से यह आपके शरीर के अंदर प्रवेश कर जाएगा।

लिफ्ट से बचें और बटन को हांथ से ना छुएँ  

लिफ्ट में अगर कोई संक्रमित व्यक्ति आता है तो वायरस हवा में बना रहेगा। ऐसे में लिफ्ट में चढ़ने वालों के संक्रमित होने का खतरा है। लिफ्ट में बटन दबाने के लिए पेन का इस्तेमाल करें। इसके अलावा कई ऐसे उपाय हैं जिन्हें अपना कर आप इससे बचाव कर सकते हैं:

जैसे दरवाजे के हत्थे को संभलकर छुएँ, कमरे का तापमान ज्‍यादा रखें, ताजा हवा के लिए खिड़कियां खोले रखें, अंडा और मांस से रखें दूरी, मोबाइल फोन को साफ रखें, यदि आपको खांसी और बुखार आ रहा हो तो लोगों से दूरी बनाए रखें, अपनी आंख, मुंह और नाक को बार-बार न छुएं, सार्वजनिक स्‍थानों पर थूकने से बचें, खेतों की ओर जाने, जीवित पशुओं के बाजार में जानें से बचें, जीवित पशुओं के संपर्क में आने और अधपके मांस को खाने को बचें, जहां जानवर का वध किया जाता हो, वहां जानें से बचें।

लक्षण दिखे तो रहें सावधान

बुखार, खांसी और जुकाम हो तो यात्रा न करें। अचानक तेज बुखार होने, जुकाम और खांसी होने, शरीर में तेज दर्द के साथ कमजोरी, लिवर और किडनी में परेशानी, सांस में तकलीफ होने, निमोनिया के लक्षण दिखने और पाचन क्रिया में अचानक तकलीफ होने पर चिकित्सा परामर्श लें।

loading...

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *