भारत को 17 बार लूटने वाले महमूद गजनवी की हई थी दर्दनाक मौत

भारत को 17 बार लूटने वाले महमूद गजनवी की हई थी दर्दनाक मौत

दोस्तों महमूद गजनवी के आक्रमण और लूटमार के काले कारनामों से ऐतिहासिक ग्रंथों के पन्ने भरे हुए हैं। महमूद गजनवी जो पूर्वी ईरानी भूमि में साम्राज्य विस्तार के लिए जाना जाता है, वह तुर्क मूल का था और एक सुन्नी इस्लामी साम्राज्य बनाने में सफल हुआ था। 

महमूद गजनवी गजनी के शासक सुबुक्तगीन का पुत्र था और वह बचपन से भारतवर्ष की अपार धन-दौलत के विषय में सुनता रहा था।वह भारत की दौलत को लूटकर धनवान होने के स्वप्न देखा करता। 17 बार भारत पर आक्रमण करके वह भारत की संपति लूटकर गजनी ले गया। उसकी इस लूटपाट का सिलसिला 1001 ई. से शुरू हुआ।

महमूद गजनवी का सबसे बड़ा आक्रमण 1026 ई. में काठियावाड़ के सोमनाथ मंदिर पर था। गुजरात के काठियावाड़ में सागर तट पर एक सोमनाथ महादेव का प्राचीन मंदिर है। महमूद ने सोमनाथ मंदिर का शिवलिंग तोड़ उसे ध्वस्त किया। उसने हजारों पुजारियों को मौत के घाट उतार दिया था। 

जीवन के अंतिम पलों में महमूद गजनवी असाध्य रोगों से पीड़ित हो गया था। जिसे सहन करना उसके लिए मुश्किल था। सन 1030 में गजनवी की मौत मलेरिया होने के कारण हुई।

loading...

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *